Story For Kids In Hindi – बच्चो के लिए चटपटी और मज़ेदार कहानियाँ 🎂💪

प्रिय दोस्तों मै  आज आपके लिए लेकर आया हूँ Story For Kids In Hindi |  ये कहानियाँ बहुत रोचक और मज़ेदार है | इन कहानियो से हमें जीवन की नैतिक शिक्षा का ज्ञान होता है | आईये शुरू करते है  Story For Kids In Hindi

Story For Kids In Hindi

Story For Kids In Hindi – अंधा गिद्ध 🕊

एक पेड़ पर बहुत सारी चिड़ियाँ रहती थी। एक दिन उसी पेड़ पर एक खोह में रहने के लिए एक अंधा गिद्ध आ गया। सभी चिड़ियों ने उसका स्वागत किया। गिद्ध बूढ़ा भी था, इसलिए सभी पक्षियों ने तय किया वे अपने-अपने भोजन में से उसे भी दे दिया करेंगे। बदले में अंधे गिद्ध ने तय किया कि वह उन सब पक्षियों के बच्चों की देखभाल किया का।

एक दिनएक बिल्ली उसी पेड़ के पास से गुजरी। खुशी से चहचहाते हुए इन्हें चूजों पर पड़ी तो वे डर की आवाज़ बिल्ली को सुनाई दी। जब चूजों की नज़र बिल्ली के मारे चिल्लाने लगे ! अंधा गिद्ध तुरंत जोर से चिल्लाया, “कौन है ?” चालाक बिल्ली समझ गई कि पक्षियों के इन नन्हें-नन्हें बच्चों को वह तभी खा पाएगी, जब वह गिद्ध से दोस्ती कर ले।

बिल्ली गिद्ध से बोली, “मैंने नदी किनारे आने वाले सभी पक्षियों से आपकी बुद्धिमानी की बहुत प्रशंसा सुनी है। आपकी प्रशंसा सुनकर ही मैं आपसे मिलने आई हूँ, भैया।” अपनी प्रशंसा सुनकर गिद्ध बहुत प्रसन्न हुआ। उसने पूछा‘अच्छा! वैसे तुम हो कौन ?” बिल्ली बोली, “मैं बिल्ली हूँ।” गिद्ध यह सुनकर ज़ोर से चिल्लाया, “यहाँ से तुरंत भाण जाओ, वरना मैं तुम्हें खा जाऊंगा।”

हालाँकि चालाक बिल्ली के एक और चाल सोची। “मैं नदी के पार रहती हूं। मैं माँस भी नहीं खाती। मैं आपको कलैगी.” वह बोली। “और हर दिन नदी में स्नान कराने ले जाया वैसे भी मुझे नहीं लगता कि आप इतने समझदार होकर भी अपने एक मेहमान को खाओगे।” बूढ़े गिद्ध ने जवाब दिया, “मैं तुम्हारा भरोसा कैसे करेंतुम तो पक्षियों को खा जाती हो !” ‘अरे नही, भैया!” बिल्ली बोली। “जो दूसरों को मारते हैं, उनको तो भगवान दंड देता है।

जब जंगल में इतने स्वादिष्ट फलफूल मौजूद हैं तो मैं अपना पेट भरने के लिए किसी को क्यों मागी ?” गिद्ध उसकी बातों में आ गया और उसने पेड़ की उसी खोह में उसे अपने साथ रहने की अनुमति दे दी। अबबिल्ली हर दिन एक चूजे को खा जाती और अंधे गिद्ध को पता तक नहीं चलता।

जल्दी ही पक्षियों को महसूस हुआ कि उनके कुछ बच्चे कम हो रहे हैं! उन्होंने अपने बच्चों की तलाश करना शुरू कर के दिया। जैसे ही को पेड़ से निकलकर आग बिल्ली यह बात पता चली, वह जंगल में गई। अब बड़े पक्षी बूढ़े गिद्ध के पास अपने बच्चों के बारे में पूछने आएठिद्ध हो रहा था।

पक्षियों ने उसकी खोह में इधरउधर देखातो वो हैरान रह गए! वहाँ पर हड्डियों का ढेर लगा था! बिली पक्षियों के बच्चों को खा जाती थी, और उनकी हड्डियाँ गिद्ध की खोह में छोड़ देती थी। सभी पक्षी गिद्ध के ऊपर बहुत गुस्सा हुए। उन्हें लगा कि गिद्ध के उनके साथ विश्वासघात किया है और उन्हें मूर्ख बनाया है।

उन्हें लगा कि गिद्ध के ही उनके बच्चों को खा लिया है! वे जोर-जोर से रोनेचिल्लाने लगे और सबने मिलकर सोते हुए गिद्ध पर हमला कर दिया। बेचारे गिद्ध को समझ ही नहीं आया कि ये पक्षी क्यों उस पर टूट पड़े हैं और क्यों इतनी बेरहमी से उसे जोच रहे हैं। अंत में, सबने उसे बाहर निकाल दिया। अब उसके पास न कोई घर था और न कोई साथी। बहुत समय पहले की है।

हाथियों के राजा बात गजराज का जंगल में राज था। एक बार बारिश बिलकुल नहीं हुई। उसके राज्य में एक बार सारी झीलें सूख गईं। सारे हाथी गजराज के पास सहायता माँगने आए। वे सब पानी के बिना मरे जा रहे थे! गजराज ने कहाचिंता मत को! में तुम लोगों का राजा हूं।

तुम लोगों की आवश्यकता का याल रखना मेरा कर्तव्य है। । तुम लोगों को पानी की कभी कोई कमी नहीं होगी। में एक ऐसी गुप्त झील के बारे में जानता हूँ, जो हमेशा पानी से भरी रहती है। चलोवहीं चलते हैं।’ सारे हाथी उसी झील की ओर चल दिए लेकिन रास्ते में मिलने वाले खरगोशों को वे अपने पैरों तले रौदते गए।

ये खरगोश वहाँ सैकड़ों सालों से रहते आए थे। सैकड़ों खरगोश मर गए और हजारों घायल हो गए । खरगोश बहुत चिंतित हुए। उनमें से एक ने कहा“हाथी बहुत बड़े और भारी हैं।

हम तो उनके सामने चीटियों जैसे हैं। वे तो अब हर दिन पानी के लिए उसी झील की ओर जाया करेंगे और हमें इसी तरह से कुचलते रहेंगे। उनकी तो निगाह तक हमारे ऊपर नहीं पड़ेगी!

अगर हमने जल्द ही कुछ नहीं किया तो हम सब मारे जाएँ। हमें किसी न किसी तरह से हाथियों का झील जाना बंद कराना पड़ेगा। समस्या यह है कि

 हाथी राजा और बुद्विमान खरगोश – Story For Kids In Hindi 🐑

चे भी पाजी की कमी से परेशान हैं, इसलिए वे हमारा अनुरोध नहीं मानेंगे।” एक चतुर अरगोश ने एक समझदारी भरी योजना बनाई। रात को वह गजराज के पास गया। वह बहुत सतर्क था क्योंकि अगर गजराज गुस्सा हो जाता तो वह सबको मार डालता!

उसके पूरे आदर के साथ गजराज को प्रणाम किया और बोला”महाराजमुझे चंद्रदेव ने भेजा है। यह झील उनकी है और उन्होंने आप लोगों को इस झील का पानी पीने से मना किया है।” “अच्छा! लेकिन तुम्हारे चंद्रदेव हैं कहाँ ?” आश्चर्य में पड़े गजराज ने पूछा।

खरगोश गजराज को उसी झील के पास ले गया और झील में चंद्रमा की परछाई दिखाते हुए बोला, “महाराजवे रहे चंद्रदेव! वे दिख रहे हैं न ? गजराज ने झील में देखा और विनमतापूर्वक जवाब दिया, “हाँ, हाँ, दिख रहे हैं।” “महाराजअब चुपचाप यहाँ उनको प्रणाम करके चले जाइए।

अन्यथा वे अगर नाराज़ हो गए तो आपके और आपकी प्रजा के लिए बहुत बुरा हो सकता है,” खरगोश बोला। खरगोश की बात पर विश्वास करते हुए गजराज ने चंद्रमा की परछाई को प्रणाम किया और जल्दी से वहाँ से चला गया।

उसके बाद उस झील पर हाथी कभी नहीं आए और सारे खरगोश अपने-अपने स्थानों पर हंसी-खुशी रहने लगे।

किंग कोबरा और चीटिंयाँ – Story For Kids In Hindi 🐉

बहुत समय पहले की बात है, एक भारी किंग कोबरा एक घने जंगल में रहता था। वह रात में शिकार करता था और दिन में सोता रहता था।

धीरे-धीरे वह काफी मोटा हो गया और पेड़ के जिस बिल में वह रहता था, वह उसे छोटा पड़ने लगा। वह किसी दूसरे पेड़ की तलाश में निकल पड़ा। आखिरकार, कोबरा ने एक बड़े पेड़ पर अपना घर बनाने का निश्चय किया

लेकिन उस पेड़ के तने के नीचे चींटियों की एक बड़ी बॉबी थी, जिसमें बहुत सारी चींटियाँ रहती थीं। वह गुस्से में फनफनाता आ बाँबी के पास गया और चींटियों को डाँटकर बोला, “मैं इस जंगल का राजा हूं। मैं नहीं चाहता कि तुम लोग मेरे आसपास रहो।

मेरा आदेश है कि तुम लोग अभी अपने रहने के लिए कोई दूसरी जगह तलाश लो। अव्यथा, सब मरने के लिए तैयार हो जाओ!” चीटियों में काफी एकता थी।

वे कोबरा से बिलकुल भी नहीं डीं। देखते ही देखते हज़ारों चींटियाँ बाँबी से बाहर निकल आईंसबने मिलकर कोबरे पर हमला बोल दिया। उसके पूरे शरीर पर चींटियाँ रेंग-रेंगकर काटने लगीं! दुष्ट कोबरा दर्द के मारे चिल्लाते हए वहाँ से भाग गया।

शैतान मेमना – Story For Kids In Hindi 🐐

एक बकरी अपने शैतान बच्चे के साथ रहती थी। । एक दिज सुबह, उछलते-कूदते मना जंगल की ओर चला गया। उसकी माँ ने बच्चे को काफी मजा किया कि वह घने-अंधेरे जंगल में अकेले न जाए। उसने कहावहाँ बहुत सारे जंगली और खतरनाक ।

बेटे, वहाँ अकेले । जानवर होंगोमत जाओ “म, मत में ज़्यादा चिंता करो। दूर नहीं जाऊंगा” मेमने ने जवाब दिया। नहाँ मेमना उछल-कूद करते हुए खेल में मग्न हो और उसे गया पता ही नहीं चला कि वह जंगल में कितने दूर आ गया है।

जल्द ही अंधेरा हो गया। अब वह वापस अपनी माँ के पास जाना चाहता था, लेकिन बेचारा डरा-घबराया मेमना रास्ता भूल गया! वह गुम हो चुका था और उसे समझ आ में नहीं रहा था कि वह क्या करे। वह अपनी माँ को पुकारते हुए चिल्लाने लगा।

उसे अपने आरामदायक घर की याद सताने लगी। उसे महसूस हुआ कि उसने अपनी माँ की बात न मानकर बड़ी गलती कर दी। तभी, एक भेड़िया वहाँ आ पहुंचा और बोला, “अरे!

आज रात तो मैं इसी मेमरी का स्वादिष्ट गोश्त खाऊंगा’ भेड़िए ने झपटकर मेमने को दबोच लिया। बेचारे मेमने को अपनी माँ की बात न मानने का दंड भुगतना पड़ा।

बोलने वाली गुफा -Story For Kids In Hindi

एक जंगल में एक शेर रहता था। एक दिन वह आराम करने के लिए जगह तलाश रहा था, उसे एक बड़ी फिा दिखाई । के देखा कर कि दीशेर अंदर , उसे कोई नहीं दिखा। शेट को लण तो रहा था कि कोई न कोई तो इस गुफा में अवश्य रहता है, लेकिन उसे वह युफा इतनी पसंद आई कि उसका मन उसी में रहने का करने लगा।

वह गुफा एक सियार की थी। थोड़ी ही देर में शाम हो गई और सियार अपनी गुफा में आ गया। गुफा के बाहर उसे शेर के पैरों के निशान दिखाई दिए। सियार बहुत होशियार था। वह सतर्क हो गया।

वह शेर का शिकार नहीं बनना चाहता था! गुफा में शेर है या नहीं, यह पता करने के लिए सियार ने एक चाल चली। वह जोर से चिल्लाया, तुमने रोज की तरह मुझसे बात नहीं ‘ओ गुफा! अगर की, तो मैं यहाँ से चला जाऊंगा।” शेर ने सियार की आवाज़ सुनी तो उसके मन में लालच आ गया।

उसने गुफा के बदले जवाब देने का निश्चय किया। उसने दहाड़ मार दी। शेर की दहाड़ सुनकर चतुर सियार समझ गया और जान बचाकर भाग गया।

 ऊँट का बदला – Story For Kids In Hindi

एक ऊंट और एक सियार बहुत पक्के दोस्त थे। एक दिनवे एक खेत में तरबूज़ खाने गए। भरपेट तरबूज खाने के बाद सियार हुआ-हुआ चिल्लाने लगा। ‘अरेचिल्लाओ मततुम्हारा चिल्लाना सुनकर किसान आ जाएगा!” ऊंट ने उसे समझाया। “गाना गाए बगैर मेरा खाना नहीं पचता,” सियार ने जवाब दिया। जल्द ही किसान वहाँ आ गया।

किसान को आते देखसियार तो भाग लिया लेकिन किसान ने भेंट की लाठियों से जमकर पिटाई की। एक दिन, ऊंट ने सियार से कहा, “चलो, नदी में तैरते हैं। मैं तैरैया और तुम मेरी पीठ पर बैठे रहना ।” सियार तैयार हो गया।

ऊंट सियार को पीठ पर बैठाए हुए गहरे पानी में पहुँचा, तो डुबकी लगाने लगा। सियार चिल्लाने लगा, “, ये क्या कर रहे हो जाऊंगा” “लेकिन तो ? में डूब । मैं पानी में जाकर डुबकी लगाता ही हूँ।

मेरी सेहत के लिए यह बहुत अच्छा होता है,” ऊंट बोला और सियार को मंझधार में छोड़, गहरे पानी में डुबकी लगाने लगा।

झूठा दोस्त -Story For Kids In Hindi 💋

एक हिरन और एक कौआ पक्के दोस्त थे। एक दिन कौए ने हिरन को एक सियार के साथ देखा। सियार बहुत चालाक जानवर माना जाता है। कौए ने अपने दोस्त हिरन को समझाया कि सियार पर भरोसा नहीं करना चाहिए। हिट ने कौए की सलाह पर ध्यान नहीं दिया और सियार के साथ एक खेत में गया। हिरन वहाँ लगे जाल में फंस गया।

सियार उससे कहने चला लगामैं तो किसान को बुलाने जा रहा आएगा और हूं। वह तुम्हें मार डालेगा। मुझे भी वह तुम्हारे गोश्त का हिस्सा देगा” हिन चिल्लाने लगा। कौए ने अपने दोस्त के चिल्लाने की आवाज़ सुनी तो तुरंत उसकी सहायता क के लिए आ गया।

उसने हिरन से कहा कि वह ऐसे लेट जाए, जैसे वह ….. सचमुच मर गया हो। थोड़ी ही देर में, सियार की आवाज सुनकर किसान वहाँ आ पहुँचा। उसने देखा कि जाल में हिरन तो मरा पड़ा है।

उसने जाल खोल दिया। जाल खुलते ही हिरन को मौका मिल गया और वह तुरंत उछलकर वहाँ से भाग गया। गुस्साए किसान ने सियार की पिटाई कर दी और उसे वहाँ से भगा दिया।

 मुर्गी और बाज – Story For Kids In Hindi 🕸

एक बाज और एक सुग आपस में बातें कर रहे थे। बाज के गुर्गों से कहा तुम सबसे अधिक अहसानफरामोश पक्षी हो।”, “ऐसा क्यों कह रहे हो ?” मुर्गी के गुस्से से पूछा।

बाज ने जवाब दिया, “तुम्हारा मालिक तुम्हें खाना खिलाता है लेकिन वह तुम्हें जब पकड़ने के लिए आता है, तो तुम इस कोने से उस कोने तक उड़ने लगती हो।

मैं तो जंगली पक्षी हूं, फिर भी मैं दयालु लोगों का ख्याल रखता हूं।” मुर्गी धीरे से बोली, “अगर तुम किसी बाज को आण पर भुनते हुए देखो, तो तुम्हें कैसा लगेगा ?

मैंने यहाँ सैकड़ों मुर्गे-मुर्गियों को आ पर भूने जाते हुए देखा है। अगर तुम मेरी जगह होते, तो तुम भी अपने मालिक को कभी अपने पास नहीं आने देते।

मैं तो सिर्फ एक इस कोने से उस कोने तक उड़ती ही , पर तुम तो पहाड़ियों पर उड़ते फिरते।”

चूहा बन गया शेर – Story For Kids In Hindi 🐅

एक दिन, एक साधु ने देखा कि एक बिल्ली चूहे को खदेड़ रही थी। साधु ने अपनी जान अलौकिक शक्तियों से उस चूहे को बिली बना दिया और उसकी बच गई।

एक दिन उस बिल्ली के पीछे एक कुत्ता दौड़ पड़ा। अब साधु ने उसको कुत्ता बना दिया। एक बार, उस कुत्ते पर शेर ने हमला कर दिया। साधु ने तुरंत उस कुत्ते को शेर बना दिया। जो गाँव वाले इस नए शेर का रहस्य जानते थे, वे उसका मजाक उड़ाते थे। उठके लिए वह एक पिद्दी-सा चूहा ही था, जो शेर बता फिरता था!

अब इस शेर ने सोचा कि जब तक यह साधु जीवित रहेगा, सब लोगा उसका ऐसा ही मजाक उड़ाते रहेंगे। साधु न इस शेट का अपनी आरआत देखा तो उसके इरादे समझ गया। साधु बोला, “जाओ, तुम फिर से चूहा ही बन जाओ।

तुम अहसान फरामोश हो और शेर बनने लायक और इस प्रकार वह शेर फिर से सिकुड़कर दुबारा चूहा बन गया।

कुरूप पेड – Story For Kids In Hindi 🌴

बहुत समय पहले, एक जंगल में बहुत सारे सीधे तले हुए सुंदर-सुंदर पेड़ थे। उसी जंगल में एक पेड़ अलग-थला सा था। उसका तना झुका हुआ और टेढ़ा-मेढ़ा था। उसकी डालियाँ भी टेढ़ी-मेढ़ी थीं।

अपनी इस हालत की वजह से वह पेड़ काफी उदास। रहता था। जब भी वह दूसरे पेड़ों की ओर देखता, तो आह भरने लगता, “काश, मैं भी बाकी पेड़ों की तरह सुंदर होता। भगवान ने मेरे साथ बड़ा अन्याय किया है। एक दिन, एक लकड़हारा उस जंगल में आया।

उसकी निगाह उस टेढ़े-पेड़ पर पड़ी। वह तिरस्कार भरे स्वर में बोला, “ये टेढ़ा-मेढ़ा पेड़ मेरे किस काम का !” और तब उसके बाकी सारे सीधे और संदर पेड़ों को काट डाला।

तब उस टेढ़ेमेढ़े पेड़ को समझ में आया कि भगवान ने उसे टेढ़ा-मेढ़ा और कुरूप बताकर उसके साथ कितना अच्छा किया क्योंकि उसके इसी आकार की वजह से ही उसकी जान बच पाई ।

कृतघ्न शेर – Story For Kids In Hindi 🦔

एक बार एक शेर पिंजरे में फंस गया। उसने विकलने की बहुत कोशिश की लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। तभीउसे बगल के रास्ते से गुजरता हुआ एक आदमी दिखा।

शेर ने उससे सहायता माँगी और वादा किया कि वह बाहर निकलने पर उसे नहीं खाएगा। शेर की बात पर विश्वास करउस आदमी के पिंजरा बोल दिया।

शेर बाहर आ गया लेकिन बाहर आते ही वह अपना वादा भूल गया। अब वह उस आदमी को खाना चाहता था ! वह आदमी घबरा गया और अपनी जान बचाने का तरीका सोचने लगा। उसके सुझाव रखा कि वे अपने मामले को सुलझाने के लिए किसी की सहायता लेते हैं।

वहीं से निकल रहे एक सियार से उन दोनों ने फैसला करने का अनुरोध किया। सियार बहुत चतुर था। उसने कहा कि जो-जो हुआ, वह सब उसके सामने फिर से करके दिखाओ।

शेर फिर से पिंजरे में घुस गया और सियार के कहे अनुसार, उस आदमी ने जल्दी से पिंजरा बंद कर दिया और उस पर ताला लगा दिया। इसके बाद वह आदमी और वह। सियारदोनों वहाँ से भाग निकले और कृतज शेर फिर से पिंजरे में बंद रह गया।

घोड़ा और गधा -Story For Kids In Hindi 🐄

एक धोबी के पास एक घोड़ा और एक साधा था। एक , दिव धोबी ने कपड़ों की भारी पोटली मावे की पीठ पर लाद दी। घोड़े के ऊपट कुछ नहीं लादा। गाधे के ऊपर लदा बोझा काफी भारी था।

उसके घोड़े से अबुरोध किया, “भई! मैं इस बोझ के मारे मरा जा च रहा हूं। कुछ बोझा अपने ऊपर ले लो।” घोड़े ने साफ इन्कार कर दिया, “में क्यों तुम्हारा बोझा लादें १ घोड़े तो सवारी के लिए होते हैं, बोझा होने के लिए नहीं।” गधा चलता रहा।

कुछ देर बाद गधा बोझा नहीं। सह पाया और गिर पड़ा। अब धोबी को अपनी गलती समझ में आई। उसने गधे को पानी पिलाया और सारा बोझा घोड़े के ऊपर लाद दिया।

अब घोड़ा पछताने लगा। वह सोचने लगा, “अगर मैंने गधे की बात मानकर उसका आधा बोझा अपनी पीठ पर ले लिया होता तो मुझे पूरा बोझा लादकर बाज़ार तक इस तरह नहीं जाना पड़ता! ”

अन्य लेख

 हौद में पड़ा कुत्ता – Story For Kids In Hindi 🐈

एक बाड़े में एक कुत्ता रहता था। वह हमेशा घोड़ों का चारा रखने की हौद में मुलायम सूखी घास पर सोता रहता था। वैसे कुत्ते का भोजन तो बाड़े के बाहर अहाते में रखा जाता था ।

लेकिन स्वार्थो कुत्ता उसी हौद में पड़ा रहता था। इतना ही नहीं, जब घोड़े खाना खाने आते तो वह उन पर अंकते भी लगता । बेचारे घोड़े अपना खाता तक नहीं खा पाते थे! वे कुत्ते को बताते कि किसाब के अहाते में उसके लिए हड़ियाँ रखी हैं, लेकिन कुत्ता हौद से बाहर निकलने को तैयार ही नहीं होता था।

कितना स्वार्थी कुत्ता है!” घोड़ों ने आपस में कहा। वह जानता है कि वह घास नहीं खा । सकता लेकिन वह तो हमें भी कुछ खाने नहीं देता। वह हमें तो परेशानी में डालता ही है, वह खुद भी परेशानी में पड़ेगा!! ”

खरगोश और कछुआ -Story For Kids In Hindi 🐢

एक घमंडी खरगोश एक कछुआ का हमेशा मजाक उड़ाता रहता था। “तुम कितना धीरे चलते हो !” वह कहता। जब कछुआ अपना अपमान नहीं सह पाया तो उसने खरगोश को दौड़ । लगाने की चुनौती दे डाली।

छोश जोर-जोर से हंसने लगा, तुम मजाक कर रहे हो! ठीक है, कल हम दोलों पहाड़ी के दूसटी ओट जाएँगे और देखते हैं कौन पहले पहुँचता है।” अगले दिन सुबह-सुबह, दोनों ने अपनी दौड़ शुरू की। खरगोश तेजी से दौड़ा और काफी आगे जाने के बाद उसके पीछे मुड़कर कछुए को देखा।

कछुआ बहुत पीछे छूट चुका था। उसने कुछ देर वहीं आराम करने का निश्चय किया। इस बीच कछुआ धीरे-धीरे लेकिन बिना रुके चलता जब खरगोश की आंखें खुलीं तो कछुए की दौड़ पूरी होने ही वाली थी।

खरगोश ने पूरी जान लगाकर तेज दौड़ने की कोशिश की लेकिन उसके पहुँचने से पहले ही कछुए ने अपनी दौड़ पूरी कर ली और जीत गया ! अब खरगोश को अपनी गलती का अहसास हुआ। धीरे लेकिन लगातार चलने वाले की ही जीत होती है!

व्यापारी और गधा -Story For Kids In Hindi 🐎

एक व्यापारी नमक से भरी बोरियाँ पड़ोस के शहर ले जाया करता था। वह बोरियाँ गधे की पीठ पर लादकर ले जाता था। एक दिन एक तालाब पार करते समय गधे का पैर फिसल गया। व्यापारी ने उसे उठाया।

गधे को एकाएक काफी आराम मिला। उसकी पीठ पर लदा ज़्यादातर नमक पानी में घुल चुका था और उसका बोझा काफी कम हो गया था। वह बहुत प्रसन्न हुआ।

अबगधा प्रतिदिन जान-बूझकर तालाब में फिसल जाता। कुछ दिनों में व्यापारी गधे की चालाकी समझ गया। उसने गधे को सबक सिखाने का निश्चय किया। अगले दिनव्यापारी ने गधे पर नमक की जगह ई के गट्ठर लाद दिए। जब गधा पानी में गिरा तो ई भीगकर बहुत भारी हो ई!

गधे से अब बोझ के मारे उठना मुश्किल हो रहा था। “हाँ! अब तुम मेरे साथ कभी चालाकी नहीं करोगे” व्यापारी हंसा और अपने गधे को हाँकते हुए आगे चल पड़ा ।

नीले सियार की कहानी – Story For Kids In Hindi 🦄

एक बार सियार के घर को रंगने के लिए नीले रंग से भरे। एक एक धोबी में घुस गया और कपड़ों बड़े हौद में छिप गया। जब वह बाहर निकला तो वह पूरा नीला हो गया था !

जब सियार माल वापस आया तो सारे जानवर उसे देखकर डर गए। उन्हें समझ ही नहीं आया कि यह अजीब जानवर कौन-सा है। दियार बोला, “डरने की कोई बात नहीं है। मुझे ईश्वर। ने विशेष तौर पर बनाया है। उसने मुझे तुम लोगों का राजा बनाकर भेजा है।”

जंगाल के सभी जानवरों ने उसे अपना राजा मान लिया । ! एक दिन, जब नीला सियार अपना दरबार लगाए बैठा था, तभी उसे कुछ और सियारों के हुआ-हुआ चिल्लाने की आवाजें सुनाई दीं।

अपने साथियों की आवाजें सुनकर वह इतने जोश में आ गया कि वह भी जोर-जोर से हुआ-हुआ चिल्लाने लगा। सारे जानवर समझ गए कि उनका ये राजा कोई और नहींबल्कि सियार ही है।

वे सब बहुत नाराज़ हुए। उन सबने मिलकर सियार की अच्छी पिटाई की और उसे वहाँ से भगा दिया।

 भेड़िया और सारस – Story For Kids In Hindi 🐆

एक दिन, एक भेड़िए को जंगल में बैल का गोश्त पड़ा मिला। उसके ललचाकर जल्दी से गोश्त खाना शुरू कर दिया। हड्डी का एक टुकड़ा उसके गले में फंस गया।

उसे साँस लेने तक में मुश्किल होने लगी। भेड़िए को याद आया कि पास ही एक सारस रहता है। भेड़िया सारस के पास गया और उससे सहायता माँगने लगा।

भेड़िए ने भारत को इनाम देने का भी वादा सारस को भी उस पर दया आ गई। वह भेड़िए की सहायता करने को तैयार हो गया। भेड़िए ने अपना मुंह पूरा खोल दिया और सारस ने आसानी से उसके गले में फंसी हड्डी अपनी लंबी चोंच से बाहर निकाल दी।

इसके बाद सारस ने भेड़िए को उसका वादा याद दिलाते हुए उससे अपना इनाम माँगा। “कैसा इनाम ?” भेड़िया मुकर गया। “जब तुमने अपनी चोंच मेरे मुंह में डाली थी, तब मैं चाहता तो तुम्हें तभी खा जाता!

तुम्हें तो मेरा आभारी होना चाहिए कि मैंने तुम्हें जिंदा छोड़ दिया।” सारस कोई जवाब देताउसके पहले ही स्वार्थ भेड़िया वहाँ से भाग चुका था।

दो मित्र और भालू – Story For Kids In Hindi 🐃

एक दिज, दो बच्चों, सुजल और पीयूष ने जंगल जाने का निश्चय किया। दोनों मित्र थे और दोनों ने किसी भी संकट के समय एक-दूसरे की सहायता करने का वादा किया।

जंगल में, अचानक एक भालू उन पर झपट पड़ा। सुजल तो जल्दी से पास के ही एक पेड़ पर चढ़ गया, लेकिन पीयूष को बचने का कोई रास्ता नहीं मिला क्योंकि उसे पेड़ पर चढ़ना नहीं आता था। उसने मर जाने का बहाना किया और वहीं जमीन पर लेट गया।

भालू गुर्राते हुए पीयूष के पास आया और उसके कान के पास कछ। फुसफुसाया। पीयूष साँस रोके पड़ा रहा। कुछ देर बाद भालू गुर्राता हुआ वहाँ से चला गया।

सुजल पेड़ से उतरकर नीचे आया और पीयूष से लणा, “भालू तुमसे क्या कह रहा था ?” भालू ने मुझसे कहा कि ऐसे स्वार्थी मित्रों से दूर रहना चाहिए, जो संकट के समय तुम्हें अकेला छोड़कर भाग जाते हों,” पीयूष ने जवाब दिया।

Story For Kids In Hindi – सच्चा मित्र 👯

बहुत समय पहले, एक पेड़ पर तोते का एक जोड़ा रहता था। उसी पेड़ पर एक बिल में एक बूढ़ा साँप रहता था। साँप बहुत कमजोर हो चुका था।

वह अपने लिए शिकार की तलाश करने तक नहीं जा पाता था । तोते उसके बिल के पास कुछ खाना रख देते थे। साँप उन तोतों का बहुत आभार जताया करता था।

एक दिन, एक गिद्ध उन तोतों का शिकार करने के लिए उस पेड़ पर मंडराने लगा। तभी एक बहेलिया वहाँ आया। उसने तीर से एक तोते पर निशाना लगाया ।

जब साँप को यह पता चला कि उसके मित्र संकट में हैं, तो उसके बहेलिए के पैर में काट लिया। माँप के काटने से बहेलिए का हाथ हिल गया और उसका निशाना चूक गया।

बहेलिए का तीर सीधे मंडरा रहे गिद्ध को जा लगा। साँप ने अपने मित्रों की जान बचाकर साबित कर दिया कि वह सच्चा मित्र है।

चालाक लोमड़ी – Story For Kids In Hindi 🐆

एक कौआ एक पेड़ की डाल पर रोटी का टुकड़ा अपनी चोंच में दबाए बैठा था। एक लोमड़ी वहाँ आई। कौए की रोटी छीनने के लिए उसने एक चाल चली। उसने कौए का अभिवादन कियालेकिन कौए ने उसका कोई जवाब नहीं दिया क्योंकि अगर वह मुंह खोलता तो रोटी का टुकड़ा नीचे गिर जाता। तब लोमड़ी बोली, “तुम बहुत सुंदर लग रहे हो।

तुम्हें तो सारे पक्षियों का राजा बना देना चाहिए। मुझे अपनी मधुर आवाज में एक गाना सुना दो।” अपनी चापलूसी से प्रसन्न होकर कौआ स्वयं को रोक नहीं पाया और उसने जवाब दिया, “धन्यवाद !” लेकिन जैसे ही उसने मुंह खोला, उसकी चोंच में दबा टी का टुकड़ा नीचे गिर पड़ा।

चालाक लोमड़ी ने तुरंत वह टुकड़ा उठा लिया और भाग गई । 21 गधे ने गाया गाना एक बार की बात है, एक बूढ़ा और कमजोर था। गधा एक बार रात में, गधे को एक सियार मिला। दोनों मित्र बन गए और साथ-साथ खाने की तलाश में जाने लगे। अगली रात को वे दोनों ककड़ी के एक खेत में गए। वहाँ दोनों ने भरपेट ककड़ियाँ खाईं।

अब वे दोनों रोज़ रात को उस खेत में जाने लगे। एक गधे ने सियार से कहा“मेरा गाना गाने का मन कर रहा है।” त, सियार ने कहा, “अरे भैया, ऐसा मत करोइस खेत का मालिक तुम्हारी तेज आवाज़ जरूर सुन लेगा और लाठी लेकर यहाँ आ धमकेगा।

यह तो जानते ही हो ज, कि हम यहाँ चोरी से आए हैं।” उधरगधा अपने मित्र की बात सुनने को तैयार नहीं था। सियार ने चतरा समझकर वहाँ से भागने में ही भलाई समझी। गधे की कर्कश आवाज सुनकर किसान वहाँ आ पहुंचा और अपने खेत में गधे को घुसा देखकर उसकी अच्छी पिटाई की।

 

Few Words Of govyojana.in –  मुझे उम्मीद है कि आप हमारे लेख को पसंद करेंगे। यदि आप इस पोस्ट का आनंद लेते हैं, तो मैं बहुत आभारी हूं यदि आप इसे किसी मित्र को ईमेल करके या ट्विटर या फेसबुक पर साझा करके इसे फैलाने में मदद करेंगे। कृपया नवीनतम अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारी साइट पर रेगुलर विजिट जारी रखें। हम इस ब्लॉग पर नई और सत्यापित जानकारी प्रदान कर रहे हैं। यदि आपके पास कोई समस्या है या सुझाव चाहते हैं तो आप हमारे टिप्पणी बॉक्स पर टिप्पणी कर सकते हैं। 

 🙍💐🌼🍁 धन्यवाद! कृप्या दोबारा विजिट करे और साझा करें 🎭🌿🌴💽🙏

 

Post Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *